जानिये, किस वजह से भंवरे गुनगुनाते हैं?

भंवरे गुनगुनाते हैं, क्यों?
जब भौरें उड़ते हैं तो इनके पंखों में बहुत तेज कम्पन होता है। यह लगभग 400 Hz होता है। इसी कंपन के कारण गुनगुनाहट होती है।


क्या होता है जब एक जहाज एक नदी से एक समुद्र में प्रवेश करता है?
चूंकि समुद्र के खारे पानी का घनत्व नदी के जल के घनत्न से अधिक होता है, इसलिए समुद्र के जल में जहाज के प्रवेश करने पर अधिक उत्प्लावन बल का अनुभव होता है, जिससे पानी का तल नीचा हो जाता है।

मौत के कुएं में मोटरसाइकिल कैसे चलाते हैं?
मौत के कुएं में जब चालक कुएं की दीवार पर मोटर-साइकिल तेजी से दौड़ाता है तो वह स्वयं को मोटर-साइकिल समेत कुछ झुकाये रखता है। इस दशा में दीवार द्वारा आरोपित बल का क्षैतिज घटक आवश्यक अभिकेंद्र बल प्रदान करता है तथा ऊर्ध्वाधर घटक मोटर-साइकिल व चालक के भार को संतुलित करता है।

बर्फ का टुकड़ा पानी में क्यों तैरता है?
बर्फ पानी पर इसीलिए तैरती है क्योंकि बर्फ के पूरे टुकड़े का वजन उसके रखने से हटने वाले पानी भाग के वजन के बराबर होता है। यह तरल पदार्थ प्वलनशीलता का सिद्धांत है, जिसके अनुसार वस्तु पानी पर तैरेगी, जब उसा वजन उसके द्वारा हटाए गए पानी के भाग के वजन के बराबर होगा।

जानिये, छुई मुई का पौधा छूने से क्यों मुरझा जाता है?

चमगादड़ रात में कैसे उड़ता है?
चमगादड़ उड़ते हुए अल्ट्रासोनिक पराश्रव्य तरेंगे उत्पन्न करती है, जो रास्ते से आने वाली किसी भी वस्तु से टकराकर उनके पास लौट आती है, जिससे चमगादड़ों के यह पता लग जाता है कि मार्ग में कोई अवरोधक है, फलत: वे अपना मार्ग बदल लेते हैं। इस प्रका चमगादड़ अंधेरे में उड़ सकते है।

क्लोरोफॉर्म को रंगीन बोतल में क्यों रखा जाता है?
क्लोरोफार्म प्रकाश की उपस्थिति में आॅक्सीकृत होकर एक विषैली गैस फास्जीन बनाती है। इसलिए इसके रंगीन बोतलों में रखा जाता है।

सोडियम को मिट्टी के तेल में क्यों रखा जाता है?
सोडियम धातु जल के साथ अत्यन्त तेजी से क्रिया करता है तथा आग लग जाती है। प्रक्रिया में सोडियम हाइड्राक्साइड बनता है तथा हाइड्रोजन गैस निकलती है। मिट्टी के तेल के साथ यह कोई क्रिया नहीं करता, जिसके कारण इसे मिट्टी के तेल में रखा जाता है।

मकड़ी अपना जाल कैसे बुनती है?
मकड़ी के शरीर में एक सिल्क ग्लैन्ड पाया जाता है, जिससे प्रोटीन की तरह पदार्थ स्त्रावित होता है। इसी पदार्थ से मकड़ी जाल बनाती है।


रात में वृक्ष के नीचे क्यों नहीं सोना चाहिए?
श्वसन के दौरान पौधे रात्रि में आॅक्सीजन लेते हैं और कार्बनडाईआॅक्साइड बाहर निकालते हैं। इस प्रकार पेड़ के नीचे आॅक्सीज की कमी हो जाती है, जिससे श्वसन के लिए उचित मात्रा में आॅक्सीजन नहीं मिल पाती है। इसलिए रात में पेड़ के नीचे नहीं सोना चाहिए।

जानिये, मोती कैसे बनता है?

खाना खाने के बाद नींद क्यों आती है?
सामान्यत: जब हम भोजन करते हैं तब भोजन की पाचन क्रिया के लिये पेट को रक्त की अधिक आवश्यकता होती है, भोजन के बाद शरीर के रक्त का बहुत सारा हिस्सा पेट में प्रवाहित हो जाता है, परिणामस्वरूप मस्तिष्क में रक्त की मात्रा कुछ समय के लिए ​कम हो जाती है। ऐसी स्थिति में मस्तिष्क में रक्त की उचित मात्रा पहुंचने में समय लगता है। वास्तव में यह एक ऐसी स्थिति होती है, जिसमें शरीर को आराम की आवश्यकता होती है। इसलिए भोजन करने के बाद थोड़ी देर आराम करना बहुत आवश्यक होता है।

अंतरिक्ष यात्री को आकाश का रंग काला क्यों दिखाई देता है?
ज्ञातव्य हो कि चंद्रमा पर वायुमंडल नहीं है। अत: चंद्रमा के तल पर पहुंचने वाले सूर्य के प्रकाश का प्रकीर्णन नहीं होता है। इस कारण चंद्रमा के तल से देखने पर आकाश काला दिखाई देता है। वास्तव में पृथ्वी के वायुमंडल के ऊपर सूर्य के प्रकाश का प्रकीर्णन न होने के कारण अंतरिक्ष से सभी स्थानों पर आकाश काला दिखाई देगा। वायुमंडल से बाहर जाने वाले अंतरिक्ष यानों से इसकी पुष्टि होती है। दिन के बाहर जाने वाले अंतरिक्ष यानों से इसकी पुष्टि होती है। जैसा कि विदित है, कि दिन के श्वेत प्रकाश में आकाश का रंग हल्का नीला (Sky Blue) दिखाई देता है। चंद्रमा व अंतरिक्ष से आकाश का रंग काला दिखाई देता है, क्योंकि वहां पर वायुमंडल का अभाव है।

Post a Comment

0 Comments