भारतीय कानून अधिनियम - विधि प्रश्नोत्तरी


पिछले प्रश्न संख्या 1-25 व उनके उत्तर देखें )
भारतीय साक्ष्य अधिनियम, 1872
26. निम्नलिखित में से कौनसे तथ्य सिद्ध करना आवश्यक नहीं है?
(a) तथ्य जो रेस गेस्टे के सिद्धान्त के अन्तर्गत हैं (b) तथ्य जो पुलिस कथन में लिखे गए हैं
(c) तथ्य जो स्वीकृत हैं (d) उपर्युक्त में से कोई नहीं (Ans : c)

27. निम्नलिखित में से किस परिस्थिति में लिखतम के सम्बन्ध में द्वितीय साक्ष्य नहीं दिया जा सकेगा?
(a) जबकि यह दर्शित किया जाए कि मूल उस व्यक्ति के कब्जे में है जिसके विरुद्ध उस लिखतम को साबित किया जाना है
(b) जबकि मूल उस व्यक्ति के कब्जे में हो जो उसे साबित करना चाहता हो
(c) जबकि मूल उस व्यक्ति की उपेक्षा या व्यतिक्रम के बिना जो साबित करना चाहता है, खो गया है
(d) जबकि मूल इस प्रकृति का है जिसे आसानी से स्थानान्तरित नहीं किया जा सकता (Ans : b)

28. मृत्युकालिक कथन (Dying declaration) को साक्ष्य में ग्राह्य होने के लिए निम्नलिखित में से क्या आवश्यक नहीं है?
(a) यह कि ऐसा कथन, कथन करने वाली की मृत्यु के कारण से सम्बन्धित होना चाहिए
(b) यह कि कथन करने वाला व्यक्ति को उसकी मृत्यु की प्रत्याशंका (Expectation) थी
(c) यह कि ऐसा कथन उस संव्यवहार की किसी परिस्थिति के बारे में किया गया
(d) उपर्युक्त सभी (Ans : b)

29. अभियोजना पक्ष को अपने साक्षी से सूचक प्रश्न पूछने की अनुमति कब दी जा सकती है?
(a) मुख्य परीक्षण में (In examination-in-chief) (b) जब साक्षी को पक्षद्रोही (Hostile) घोषित किया जाए
(c) पुन: परीक्षण में (d) किसी भी परिस्थिति में नहीं (Ans : b)

30. अंकीय चिह्न के सम्बन्ध में निम्नलिखित में से कौनसा कथन सुसंगत है?
(a) यह कि वह स्वंय न्यायालय में हस्ताक्षर की पहचान करता है
(b) हस्ताक्षर की पहचान कोई अन्य व्यक्ति करता है
(c) न्यायालय यह निर्देशित कर सकता है कि प्रमाणकर्ता प्राधिकारी अंकीय चिह्न प्रमाण-पत्र प्रस्तुत करें
(d) ऐस अंकीय चिह्न (Digital signature) न्यायालय के समक्ष किसी कार्यवाही में ग्राह्य नहीं है (Ans : c)

31. निम्नलिखित में से कौनसा दस्तावेज लोक दस्तावेज (Public Document) नहीं है?
(a) समक्ष अधिकारी द्वारा वस्तुओं की कीमत निर्धारण आदेश
(b) सर्च वारंट जारी करने का आदेश
(c) जिलाधीश द्वारा फसल काटने की रिपोर्ट
(d) किसी वाद में प्रस्तुत दावा या जवाबदावा (Ans : d)

32. निम्नलिखित में से कौनसा प्राथमिक साक्ष्य (Primary evidence) है?
(a) कमिश्नर ने रिपोर्ट तैयार कर उस पर हस्ताक्षर किए
(b) मूल मेडिकल प्रमाण-पत्र से तैयार की गई प्रति
(c) वसीयत (Will) की छाया प्रति
(d) एक फोटोग्राफ को दूसरी फोटो से बड़ा करना (Ans : a)

33. किस तथ्य का न्यायालय न्यायिक संज्ञान (Judicial notice) नहीं ले सकता है?
(a) अखबार में प्रकाशित किसी खबर का (b) भारत सरकार द्वारा मान्य उपाधियाँ
(c) भारत सरकार के आधिपत्य के अधीन राज्यक्षेत्र (d) सड़क और भूमि या समुद्र पर मार्ग का नियम (Ans : a)

भारतीय दण्ड संहिता, 1860
34. निम्नलिखित परिस्थितियों में से किस परिस्थिति में कोई व्यक्ति अपराधी (Guilty) नहीं होता?
(a) एक वयस्क व्यक्ति चाकू से दूसरे व्यक्ति की हत्या करता है
(b) एक वयस्क महिला अपने नवजात शिशु की हत्या करती है
(c) एक 75 वर्षीय व्यक्ति एक महिला के साथ बलात्कार (Rape) करता है
(d) एक 7 वर्ष से कम आयु का बालक रिवाल्वर से अपने पिता पर गोली चलाता है जिससे पिता की मृत्यु हो जाती है (Ans : d)

35. 'अ' जानता है कि 'जेड' झाड़ियों के पीछे है 'ब' को यह नहीं मालूम है. 'अ' ब' को प्रेरित करता है कि वह झाड़ियों पर गोली चलाए यह जानते हुए कि ऐसा करने से 'जेड' की मृत्यु हो सकती है. 'जेड' की मृत्यु हो जाती है. 'अ' दोषी है–
(a) हत्या के दुष्प्रेरण (Abetment to murder) का (b) आपराधिक मानववध (Culpable homicide) का
(c) हत्या के प्रयत्न (Attempt to murder) का (d) इनमें से कोई नहीं (Ans : b)

36. किसी सीमा तक किसी व्यक्ति को एकांत परिरोध (Solitary Confinement) के रखने का आदेश दिया जा सकता है?
(a) छ: माह (b) चार माह (c) तीन माह (d) दो माह (Ans : c)

37. 'अ' की पत्नी ने शादी होने के दो वर्ष बाद आत्महत्या (Suicide) कर ली. मृत्यु से पूर्व उसे 'अ' और उसके माता-पिता द्वारा दहेज लाने के लिए प्रताड़ित किया व क्रूरतापूर्ण व्यवहार किया. 'अ' और उसके माता-पिता द्वारा किस धारा के अन्तर्गत अपराध किया गया?
(a) धारा 302, भारतीय दण्ड संहिता (b) धारा 304, भारतीय दण्ड संहिता
(c) धारा 304ए, भारतीय दण्ड संहिता (d) धारा 304बी, भारतीय दण्ड संहिता (Ans : d)

38. भारतीय दण्ड संहिता में शब्द 'स्त्री' द्योतक है–
(a) वयस्क स्त्री (b) अविवाहित स्त्री
(c) किसी भी आयु की स्त्री (d) विवाहित स्त्री (Ans : c)

39. मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने अभियुक्त को भारतीय दण्ड संहिता की धारा 325 में पाँच वर्ष के कारावास एवं दस हजार रुपया के जुर्माने से दण्डित किया. भारतीय दण्ड संहिता की धारा 325 में अधिकतम कारावास सात वर्ष है. मजिस्ट्रेट अभियुक्त को जुर्माने के संदाय में व्यतिक्रम करने पर अधिकतम कारावास दे सकता है–
(a) पन्द्रह माह (b) इक्कीस माह (c) बारह माह (d) तीस माह (Ans : b)

40. कौनीस उपहति (Hurt) घोर उपहति नहीं है?
(a) किसी भी नेत्र की दृष्टि का स्थायी विच्छेद (b) अस्थि का विसंधान (Dislocation of any bone)
(c) किसी जोड़ की शक्ति का स्थायी ह्रास (d) पन्द्रह दिन तक तीव्र शारीरिक पीड़ा (Severe bodily pain) में रहना (Ans : d)

41. 'क' ने लोक मार्ग पर वाहन उतावलेपन या उपेक्षापूर्वक (Rashly or negligently) चलाकर 'ख' की सम्पत्ति को क्षति कारित की, 'क' ने भारतीय दण्ड संहिता की कौनसी धारा/धाराओं का अपराध किया है?
(a) धारा 279 (b) धारा 279 एवं 425 (c) धारा 425 (d) धारा 279 एवं 337 (Ans : b)

दण्ड प्रक्रिया संहिता, 1973
42. पुलिस अभिरक्षा, अधिकृत करने के लिए अभियुक्त को मजिस्ट्रेट के समक्ष प्रस्तुत करना होगा–
(a) सशरीर (In person) (b) अधिवक्ता के माध्यम से
(c) एक आवेदन द्वारा जिस पर अभियुक्त ने हस्ताक्षर किए हों
(d) इलेक्ट्रॉनिक वीडियो सम्पर्क के माध्यम से (Ans : a)

43. जब किसी व्यक्ति या महिला जो पुलिस अभिरक्षा में हो, की मृत्यु हो जाये या वह गुम हो जाये या उस महिला के साथ बलात्कार हुआ हो तब पुलिस द्वारा की गई जाँच के अतिरिक्त, जाँच की जाएगी–
(a) जिला मजिस्ट्रेट द्वारा (b) न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वारा जिसके क्षेत्राधिकार में अपराध हुआ है
(c) सेशन न्यायाधीश द्वारा (d) कार्यपालिक मजिस्ट्रेट द्वारा (Ans : b)

44. धारा 357 व (2) दण्ड प्रक्रिया संहिता के अन्तर्गत प्रकार की मात्रा का निर्धा​रण कौन करेगा?
(a) सेशन न्यायाधीश (b) मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट
(c) जिला मजिस्ट्रेट (d) राज्य का जिला विधिक सेवा प्राधिकरण (Ans : d)

45. पीड़ित व्यक्ति न्यायालय द्वारा दिए गए निर्णय के विरुद्ध अपील प्रस्तुत नहीं कर सकता है–
(a) जब न्यायालय ने अभियुक्त (Accused) को दोषमुक्त किया है
(b) जब न्यायालय ने लघुतर आरोप के लिए दोषी पाया हो
(c) जब न्यायालय द्वारा अपर्याप्त क्षतिधन देने का आदेश दिया हो
(d) जब न्यायालय द्वारा अपर्याप्त दण्डादेश दिया हो (Ans : a)

46. किस विचारण में अभियुक्त को दण्ड के प्रश्न पर सुना जाना आवश्यक नहीं है?
(a) सेशन न्यायालय के समक्ष विचारण (b) वारण्ट मामलों का विचारण
(c) समन मामलों का विचारण (d) उपर्युक्त सभी (Ans : c)

47. संक्षिप्त विचारण में दोषसिद्धि की दशा में कारावास का दण्डादेश (Sentence of imprisonment) की अवधि अधिक नहीं होगी–
(a) तीन माह से (b) छ: माह से (c) एक माह से (d) पन्द्रह दिन से (Ans : a)

48. कौनसा उपराध शमनीय (Compoundable) नहीं है?
(a) 337, भारतीय दण्ड संहिता (b) 324, भारतीय दण्ड संहिता
(c) 312, भारतीय दण्ड संहिता (d) 420, भारतीय दण्ड संहिता (Ans : b)

49. विचारण के दौरान ​मजिस्ट्रेट यह पाता है कि अपराध का विचारण सेशन न्यायालय द्वारा किया जाना चाहिए तब वह मामले को सुपुर्द करने की कार्यवाही संहिता की किस धारा में करेगा?
(a) धारा 209 (b) धारा 323 (c) धारा 325 (d) इनमें से कोई नहीं (Ans : a)

परक्राम्य लिखत अधिनियम, 1881
50. अधिनियम की धारा 138 के अपराध के लिए क्षेत्रीय अधिकारिता निम्न स्थानों पर उत्पन्न नहीं होती है–
(a) जहाँ चेक जारी किया गया
(b) जिस स्थानीय क्षेत्र के बैंक में चेक प्रस्तुत किया गया
(c) जिस स्थान के बैंक द्वारा चेक अनादरित (Dishonoured) किया गया
(d) जहाँ से राशि भुगतान करने का नोटिस दिया गया (Ans : d)

51. किस रचयिता द्वारा हस्ताक्षरित लिखित वचन-पत्र (Promissory note) है?
(a) श्री 'ख' मैं आपका एक हजार रूपए का देनदार हूँ
(b) श्री 'ख' मैं आपको मेरे विवाह पश्चात् दस हजार रुपए दूँगा
(c) श्री 'ख' मैं आपको माँगने पर रुपया दूँगा
(d) श्री 'ख' मैं आपको माँगने पर एक हजार रुपए दूँगा
(Ans : d)

52. कौनसा परक्राम्य लिखत (Negotiable instrument) नहीं है?
(a) बन्धपत्र (Bond) (b) वचन-पत्र (Promissory note)
(c) विनिमय पत्र (Bill of exchange) (d) चेक (Cheque) (Ans : a)

53. परिवादी को अधिनियम की धारा 138 के अधीन पारित दोषमुक्ति के आदेश के विरुद्ध अपील कहाँ करनी होगी?
(a) सेशन न्यायालय में (b) उच्च न्यायालय में
(c) मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट के यहाँ (d) सेशन न्यायालय या उच्च न्यायालय में (Ans : b)

Loading...

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *