Rail Budget 2016-17 in Hindi- रेल बजट अहम की बातें

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने 25 फरवरी, 2016 को वर्ष 2016-17 का रेल बजट लोकसभा में पेश किया। इस रेल बजट में तीन नयी सुपरफास्ट ट्रेनें शुरू करने और वर्ष 2019 तक समर्पित उत्तर-दक्षिण, पूरब-पश्चिम और पूर्वी तटीय माल ढुलाई गलियारा बनाने की भी घोषणा की।

रेल बजट 2016-17: मुख्य बिंदु–
- रेल किराये में इस बार बढ़ोतरी नहीं हुई।
- चार नई कैटेगरी के ट्रेनों की घोषणा।
- हर श्रेणी के कोच में महिलाओं को 33 फीसदी आरक्षण।
- अगले दो साल तक 400 स्टेशन पर वाई-फ़ाई की सुविधा
- 2020 तक 95 फीसदी ट्रेनें समय पर चलेंगी।
- ट्रेन के हर कोच में जीपीएस सिस्‍टम लगेंगे।
- अहमदाबाद-मुंबई हाई स्‍पीड ट्रेन चलेगी।
- 2020 तक लोगों को जब चाहे तब टिकट मिलेगी।
- डबल डेकर उदय एक्सप्रेस की शुरुआत होगी।
- मांगा आधारित रेल डिब्बों की सफाई की व्यवस्था पेश होगी, अशक्त लोगों के लिए इस वर्ष 11 ए श्रेणी के स्टेशनों पर विशेष शौचालय बनाये जायेंगे।
- रेलवे के आरक्षण कोटे में महिलाओं को 33 प्रतिशत आरक्षण दिया जाएगा।
- रेलवे बोर्ड का पुनर्गठन किया जाएगा।
- लाजिस्टिक और वेयरहाउस पार्क का विकास सार्वजनिक निजी साझेदारी के आधार पर होगा।
- भारत के पहले रेलवे आटो केंद्र का चेन्नई में जल्द ही उद्घाटन किया जाएगा।
- मुम्बई में दो एलिवेटेड उपनगरीय रेलवे कारिडोर चर्चगेट-विरार और सीएसटी-पणवेल का निर्माण किया जाएगा।
-अजमेर, अमृतसर, गया, मथुरा, नांदेड, नासिक, पुरी, तिरुपति, वाराणसी, नागपत्तनम और अन्य पर्यटन स्थलों का सौंदर्यीकरण किया जाएगा।
- रेलवे वरिष्ठ नागरिकों के लिए निचली सीट का कोटा बढ़ाकर 50 प्रतिशत करेगी।
- ट्रेनों में पायलट आधार पर बच्चों के खाने की अलग से व्यवस्था पेश होगी।
- ट्रेन में सफर के दौरान यात्रियों के बीमा की सुविधा होगी।
- ट्रेनों में दिव्‍यांगों के लिए अलग से टॉयलेट बनाए जाएंगे।
- दिल्ली में 21 नए स्टेशन बनाए जाएंगे।
- कुछ ट्रेनों में मनोरंजन के लिए एफएम की सुविधा दी जाएगी।
- रेलवे के दो एप्‍प के जरिये टिकट बुक या कैंसिल होगी।
- अहमदाबाद से मुंबई हाई स्पीड ट्रेन चलेगी।
- अब कुलियों को सहायक कहा जाएगा, ट्रेनिंग भी मिलेंगी।
- रेलवे में सभी पदों के लिए ऑनलाइन भर्ती होगी।
- पांच साल में रेलवे प्रोजेक्‍टों पर साढ़े आठ लाख करोड़ रुपये खर्च होंगे।
- रेलवे 40 नई परियोजना शुरू करेगी
- वित्त वर्ष 2016-17 के लिए इस साल निवेश 1.21 लाख करोड़ रुपये रहेगा।
- 400 स्टेशनों का सार्वजनिक निजी भागीदारी के जरिए आधुनिकीकरण किया जाएगा।
- रेलवे को सरकार से 40,000 करोड़ रपए का बजटीय समर्थन मिलेगा।
- अगले साल 2,800 किलोमीटर नए ट्रैक का परिचालन शुरू होगा।
- तीन सीधी और पूर्णत: वातानुकूलित ‘हमसफर’ रेल गाड़िया 130 किलोमीटर प्रति घंटे के रफ्तार से चलेंगी।
- कुछ चुनिंदा स्टेशनों पर पायलट आधार पर बार कोड वाले टिकट की शुरुआत होगी।
- पत्रकारों के लिए रियायती दर पर टिकटों की ई-बुकिंग पेश की गई।

Loading...

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *