हॉकी इंडिया पुरस्कार-बीरेंद्र व वंदना सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी

हॉकी इंडिया के सालाना पुरस्कारों में बीरेंद्र लाकड़ा को सर्वश्रेष्ठ पुरूष और वंदना कटारिया को सर्वश्रेष्ठ महिला खिलाड़ी चुना गया। साथ ही, तीन बार के ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता बलबीर सिंह सीनियर को लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार से नवाजा गया।

दिल्ली में 28 मार्च को हुए पहले हॉकी इंडिया पुरस्कारों में कुल दो करोड़ 81 लाख 50 हजार रुपये के पुरस्कार पिछले साल सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों, सहयोगी स्टाफ और हॉकी को विशिष्ट योगदान देने वालों को प्रदान किये गए। वर्ष के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी के ध्रुव बत्रा पुरस्कार के तौर पर वंदना और बीरेंद्र को 25-25 लाख रूपये प्रदान किये गए।

तीन बार के ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता (लंदन 1948, हेलसिंकी 1952 और मेलबर्न 1956) सेंटर फारवर्ड बलबीर सिंह सीनियर को मेजर ध्यानचंद लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार के तौर पर 30 लाख रुपये दिये गए। वर्ष के सर्वश्रेष्ठ उदीयमान अंडर 21 खिलाड़ी का जुगराज सिंह पुरस्कार हरमनप्रीत सिंह और महिला खिलाड़ी के लिये असुंथा लाकड़ा पुरस्कार नमिता टोप्पो को दिया गया। वहीं वर्ष के सर्वश्रेष्ठ गोलकीपर का बलजीत सिंह पुरस्कार भारतीय टीम के गोलकीपर पी आर श्रीजेश को मिला।

वर्ष 2014 के सर्वश्रेष्ठ डिफेंडर का पुरस्कार महिला टीम की डिफेंडर दीपिका को मिला। वहीं सर्वश्रेष्ठ मिडफील्डर का अजितपाल सिंह पुरस्कार भारतीय पुरूष टीम के मनप्रीत सिंह को और सर्वश्रेष्ठ फारवर्ड का धनराज पिल्लै पुरस्कार आकाशदीप सिंह को मिला। इन सभी को पुरस्कार के तौर पर पांच-पांच लाख रूपये दिये गए। बेहतरीन उपलब्धि के लिये हॉकी इंडिया अध्यक्ष का विशेष पुरस्कार स्टिक टू हॉकी डॉटकाम के आर अरूमुघम को दिया गया। वहीं सर्वश्रेष्ठ कोच और सहयोगी स्टाफ के लिये जमन लाल शर्मा पुरस्कार जूनियर टीम के कोच हरेंद्र सिंह को मिला।

इस मौके पर पिछले साल अर्जुन पुरस्कार के लिये हॉकी इंडिया ने जिन सात खिलाड़ियों के नाम की अनुशंसा की थी, उन्हें भी दो-दो लाख रूपये नकद पुरस्कार और ट्राफी दी गई। इनमें फारवर्ड तुषार खांडकर, शिवेंद्र सिंह, धरमवीर सिंह गोलकीपर भरत छेत्री, डिफेंडर वी आर रघुनाथ और महिला खिलाड़ी रितु रानी और जायदीप कौर शामिल है। इनमें से किसी को अर्जुन पुरस्कार नहीं मिला था।

200 अंतरराष्ट्रीय मैच पूरे करने वाले भारतीय टीम के कप्तान सरदार सिंह, महिला कप्तान रितु रानी और सौ अंतरराष्ट्रीय मैच पूरे करने वाले पी आर श्रीजेश, वंदना कटारिया, मनप्रीत सिंह, रूपिंदर पाल सिंह, सौंदर्या येंडाला, सविता के अलावा अंपायर जावेद शेख को भी विशेष पुरस्कार दिये गए।

व्यक्तिगत पुरस्कारों में पहले मैच में गोल करने वाली गुरजीत कौर, वर्ष के सर्वश्रेष्ठ एएचएफ खिलाड़ी चुने गए मनप्रीत सिंह, चैम्पियंस ट्राफी में सर्वश्रेष्ठ गोलकीपर रहे पी आर श्रीजेश, सबसे उर्जावान खिलाड़ी रहे एस वी सुनील, नाल्को फैंस च्वाइस पुरस्कार जीतने वाले सरदार सिंह और सर्वश्रेष्ठ जूनियर खिलाड़ी रहे आकाशदीप सिंह को भी एक एक लाख रूपये दिये गए।

इनके अलावा राष्ट्रमंडल खेल 2014 में रजत पदक जीतने वाली पुरूष टीम के हर सदस्य को एक एक लाख रूपये और सहयोगी स्टाफ को 50-50 हजार रूपये दिये गए। इतनी ही राशि एफआईएच विश्व लीग का दूसरा चरण जीतने वाली भारतीय महिला टीम और सहयोगी स्टाफ को दी गई।

चौथा सुल्तान जोहोर कप जीतने वाली जूनियर पुरूष टीम को एक एक लाख रूपये और सहयोगी स्टाफ को 50-50 हजार रूपये मिले। एशियाई खेल 2014 में स्वर्ण पदक जीतकर रियो ओलंपिक 2016 के लिये सीधे क्वालीफाई करने वाली पुरूष टीम के प्रत्येक सदस्य को ढाई-ढाई लाख रूपये और ट्राफी और सहयोगी स्टाफ को एक एक लाख रूपये दिये गए। उन्हें यह पुरस्कार खेलमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने प्रदान किया। एशियाई खेल कांस्य पदक विजेता महिला टीम के प्रत्येक सदस्य को एक-एक लाख रूपये और सहयोगी स्टाफ को 50-50 हजार रूपये मिले।

किसे क्या मिला पुरस्कार
मेजर ध्यानचंद लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड - बलबीर सिंह सीनियर, पंजाब (30 लाख रुपये)
● प्लेयर ऑफ द ईयर, ध्रुव बत्रा अवार्ड, पुरुष - वरिंदर लाकड़ा, उड़ीसा (25 लाख रुपये)
● प्लेयर ऑफ द ईयर, ध्रुव बत्रा अवार्ड, महिला - वंदना कटारिया, हरियाणा (25 लाख रुपये)
● अपकमिंग प्लेयर ऑफ द ईयर जुगराज सिंह, पुरुष - हरमनप्रीत सिंह, पंजाब (10 लाख रुपये)
● अपकमिंग प्लेयर ऑफ द ईयर असुंता लाकड़ा अवार्ड, महिला - नमिता टोप्पो, उड़ीसा (10 लाख रुपये)
● बलजीत सिंह अवार्ड फॉर गोलकीपर ऑफ द ईयर - श्रीजीश, तमिलनाडु (5 लाख रुपये)
● परगट सिंह अवार्ड फॉर डिफेंडर ऑफ द ईयर - दीपिका ठाकुर, आरसीएफ कपूरथला, पंजाब (5 लाख रुपये)
● अजीत पाल सिंह अवार्ड फॉर मिडफील्डर ऑफ द ईयर - मनप्रीत सिंह, जालंधर, पंजाब (5 लाख रुपये)
● धनराज पिल्ले अवार्ड फॉर फारवर्ड ऑफ द ईयर - आकाश दीप, जालंधर, पंजाब (5 लाख रुपये)
● एकल योगदान के लिए जमनालाल शर्मा अवार्ड, कोच और स्टॉफ - हरिंदर सिंह, एयरफोर्स, दिल्ली (5 लाख रुपये)
● हॉकी इंडिया प्रेसिडेंट अवार्ड फॉर आउटस्टैंडिंग अचीवमेंट - विरेंद्र लाकड़ा, उड़ीसा (5 लाख रुपये)

Loading...

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *