20 मई का इतिहास | Today in History 20 May

इतिहास के पन्‍नों में आज यानि 20 मई के दिन की प्रमुख घटनाएं जैसे उड़न परी के नाम से प्रसिद्ध धाविका पी.टी. उषा का जन्म हुआ और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मध्य प्रदेश के बीना में हज़ारों करोड़ की लागत से बनी ऑयल रिफ़ाइनरी देश को समर्पित की। अन्य प्रमुख विश्व प्रसिद्ध घटनाएं इस प्रकार है–


20 मई, 1293 – जापान के कामाकुरा में आए भूकंप में 30 हजार लोगों की मौत हुई।
20 मई, 1378 – दक्षिण भारत के दक्कन प्रांत के शासक बहमनी सुल्तान दाउद की हत्या हुई।
20 मई, 1399 – हिंदी साहित्य के भक्ति काल के इकलौते कवि संत कबीर का जन्म हुआ।
20 मई, 1498 – भारत के समुद्र मार्ग की खोज के बाद पुर्तगाली एक्सप्लोरर, वास्को द गामा, कालीकट (अब कोझिकोड) तक पहुंच गया।
20 मई, 1506 – प्रसिद्ध पर्यटक क्रिस्टोफ़र कोलंबस का देहान्त हुआ। कोलंबस ने रूमी समुद्र के चक्कर लगाए, एटलांटिक महा सागर के द्वीपों की यात्रा की ओर उत्तरी समुद्र भी गया।
20 मई, 1609 – विलियम शेक्सपियर की कविताओं के पहले संग्रह का लंदन में प्रकाशन हुआ।
20 मई, 1677 – छत्रपति शिवाजी महाराज ने जिंगी का किला जीता।
20 मई, 1750 – टीपू सुल्तान का जन्म हुआ।
20 मई, 1766 – इंदौर के होल्कर वंश के प्रवर्तक मल्हारराव होल्कर का निधन हुआ।
20 मई, 1799 – फ्रांस के विख्यात कथाकार ओनोरे डी. बैलजेक का जन्म हुआ।
20 मई, 1806 – ब्रिटेन के दार्शनिक और अर्थशास्त्री जॉन स्टीवर्ट मिल का जन्म हुआ।
20 मई, 1873 – सैन फ्रैंसिस्को के बिजनेसमैन लेवी स्ट्रॉस और दर्जी जेकब डेविस को जीन्स बनाने का पेटंट दिया गया। दुनिया की पहली जीन्स लेवी स्ट्रॉस ने बनाई थी।
20 मई, 1894 – भारतीय आध्यात्मिक गुरु चंद्रशेखरेंद्र सरस्वती का जन्म हुआ।
20 मई, 1900 – हिंदी साहित्‍य के महान कवि सुमित्रानंदन पंत का जन्‍म हुआ।
20 मई, 1902 – क्यूबा को संयुक्त राज्य अमेरिका से आजादी मिले। टॉमस एस्ट्राडा पाल्मा देश के पहले राष्ट्रपति बने।
20 मई, 1910 – जापान ने कोरिया को औपचारिक रुप से अपना एक भाग बना लिया और इसका नाम बदल कर चोज़न रख दिया।

20 मई, 1910 – पद्म भूषण से सम्मानित प्रसिद्ध मूर्तिकार रामकिंकर बैज का जन्म हुआ।
20 मई, 1918 – भारतीय सेना के वीर अमर शहीदों में एक पीरू सिंह का जन्म हुआ।
20 मई, 1927 – सऊदी अरब को ब्रिटेन से स्वतंत्रता मिली।
20 मई, 1929 – स्वतंत्रता सेनानी एवं चंपारण सत्याग्रह के प्रमुख लोगों में से एक राजकुमार शुक्ल का निधन हुआ।

यह भी जानें : 19 मई की भारत सहित विश्व की प्रमुख घटनाएं

20 मई, 1932 – भारत में ‘क्रान्तिकारी विचारों के जनक’ विपिन चन्द्र पाल का निधन हुआ।
20 मई, 1941 – सिंगापुर के दूसरे प्रधानमंत्री गोह चोक टोंग का जन्म हुआ।
20 मई, 1957 – प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी और आंध्रा राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री टी.प्रकाशम का निधन हुआ।
20 मई, 1964 – उड़न परी के नाम से प्रसिद्ध धाविका पी.टी. उषा का जन्म हुआ।
20 मई, 1965 – कमांडर एम.एस. कोहली के नेतृत्व में पहला भारतीय दल माउंट एवरेस्ट सम्मेलन में पहुँचा।
20 मई, 1965 – पाकिस्तान का बोइंग 720-बी विमान मिस्र के काहिरा में दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से 121 लोगों की मौत हुई।
20 मई, 1965 – ब्रिटेन की पुलिस को हथियारबंद अपराधियों और खतरनाक व्यक्तियों के खिलाफ आंसू गैस की बंदूकें और गोले इस्तेमाल करने की अनुमति दी गई थी।
20 मई, 1972 – कैमरून ने अपने संविधान को अंगीकार किया।
20 मई, 1972 – तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने दूसरे हावड़ा ब्रिज का शिलान्यास किया।
20 मई, 1972 – ब्रजभाषा के प्रसिद्ध कवि गयाप्रसाद शुक्ल सनेही का निधन हुआ।
20 मई, 1983 – दक्षिण अफ्रीका की राजधानी प्रीटोरिया में हुए कार बम धमाके में 16 लोग मारे गए और 130 से अधिक घायल हुए।
20 मई, 1983 – भारतीय अभिनेता और गायकएनटी राम राव जूनियर का जन्म हुआ।
20 मई, 1990 – हबल स्पेस टेलीस्कोप ने अंतरिक्ष से पहली तस्वीरों भेजी।
20 मई, 1995 – रूस द्वारा मानव रहित अंतरिक्ष ‘स्पेक्त्र’ का सफल प्रक्षेपण हुआ।
20 मई, 1998 – मल्टीबैरल रॉकेट प्रणाली ‘पिनाका’ का परीक्षण हुआ।
20 मई, 1999 – कुर्द विद्रोही नेता सेमडिम साकिक को मृत्युदंड की सज़ा दी।
20 मई, 2000 – फिजी में बंदूक़धारियों के नेता जार्ज स्पेट ने देश के अंतरिम प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली।
20 मई, 2001 – अफगानिस्तान में तालिबान ने हिन्दुओं की अलग पहचान के लिए ड्रेस कोड बनाया।
20 मई, 2002 – पुर्तगाल ने पूर्वी तिमोर की स्वतंत्रता को मान्यता प्रदान की।
20 मई, 2003 – पाकिस्तान ने उग्रवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन पर प्रतिबंध लगाया।
20 मई, 2006 – चीन ने कहा ताइवान विश्व स्वास्थ्य संगठन की सदस्यता का पात्र नहीं।
20 मई, 2011 – प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मध्य प्रदेश के बीना में हज़ारों करोड़ की लागत से बनी ऑयल रिफ़ाइनरी देश को समर्पित की।
20 मई, 2011 – झारखंड की पर्वतारोही प्रेमलता अग्रवाल ने दुनिया के सबसे ऊंचे पर्वत शिखर माउंट एवरेस्ट पर चढ़ने वाली सबसे उम्रदराज़ भारतीय महिला होने का गौरव हासिल करते हुए पर्वतारोहण के क्षेत्र में एक नया इतिहास रचा।
20 मई, 2012 – इटली में आए भूकंप में 27 लोगों की मौत हुई।