4500 लेखपालों की बंपर भर्ती बस आने ही वाली है


उत्तर प्रदेश के बेरोजगार युवकों के लिये एक बड़ी खुशखबरी लेखपालों की भर्ती को लेकर आयी है। लेखपालों के करीब 4500 रिक्त पदों पर भर्ती का प्रस्ताव ​राजस्व परिषद ने सरकार को भेज दिया है। सरकार से औपचारिक मंजूरी मिलते ही इस संबंध में विज्ञापन जारी कर दिया जायेगा।



प्रदेश में जून तक लेखपालों के करीब 3500 पद खाली हो रहे हैं। इसके अलावा लेखपालों की राजस्व निरीक्षक के पद पर प्रस्तावित पदोन्नति से इस बीच करीब 100 पद खाली हो रहे हैं। इस तरह करीब 4500 पदों की रिक्ति पर भर्ती का प्रस्ताव है। इस बार के भर्ती में खास बात यह है कि इस भर्ती में इंटरव्यू प्रक्रिया शामिल नहीं की जाएगी ।

अधीनस्थ सेवा चयन आयोग करायेगा परीक्षा 
दरअसल अब तक यह भर्ती शुरू भी हो चुकी होती, लेकिन भर्ती किस तरह होगी या अभी नहीं तय हो सका है जिसके चलते ही अभी तक विज्ञापन नहीं जारी किया जा सका है। संभावना है कि इस बार लेखपालों की भर्ती अधीनस्थ सेवा चयन आयोग कराएगा। क्योंकि पिछली बार लेखपालों की भर्ती राजस्व परिषद और जिलाधिकारियों के स्तर से हुई थी जिसे लेकर काफी सवाल उठे थे, लेकिन इस बार योगी सरकार इस भर्ती को अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के जरिए कराने की रणनीति पर अमल कर चुकी है और अब इसे अमली जामा पहनाया जाना बाकी है। फिलहाल राजस्व परिषद ने भी अपने प्रस्ताव में आयोग द्वारा भर्ती कराए जाने को लेकर किसी तरह की आपत्ति दर्ज नहीं कराई है।

नहीं होगा इंटरव्यू 
लेखपाल भर्ती में इस बार जो सबसे खास बात होगी वह कि इस भर्ती में इंटरव्यू प्रक्रिया शामिल नहीं की जाएगी। बता दें कि पिछली बार जब लेखपाल भर्ती उत्तर प्रदेश में हुई थी तब इंटरव्यू हर जिले के डीएम ने लिया था, लेकिन उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के आने के बाद अब समूह ग के पदों की भर्ती में इंटरव्यू खत्म कर दिया है। ऐसे में समूह 'ग' की यह लेखपाल भर्ती भी अब बगैर इंटरव्यू के ही होगी। यानी लिखित परीक्षा में सर्वाधिक अंक अर्जित कर मेरिट में टॉप पर रहने वाले अभ्यर्थियों को चुना जाएगा।

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *