जानिये, सिखों के 10 गुरु के नाम : 10 Gurus of Sikh

सिख धर्म का युद्ध भूमि से लेकर सामाजिक कार्यों तक इनका योगदान सर्वाधिक सराहनीय रहा है। इसलिए क्या आपको पता है कि इस धर्म की स्थापना किसने की थी और इस धर्म के 10 गुरु कौन-कौन से हैं?

आप नीचे दी गई सिक्ख गुरुओं की सूची और उनकी उपलब्धियों के बारे में जान सकते हैं। गुरु नानक प्रथम सिक्ख गुरु थे। जबकि गुरु गोविन्द सिंह अंतिम सिक्ख गुरु थे। सिखों के 10 गुरु के नाम से सम्बन्धित प्रश्न अक्सर एग्जाम में पूछे जाते हैं।

क्रम संख्या सिक्ख गुरुओं के नाम उपलब्धियां
1 गुरु नानक (1469 ईस्वी – 1539 ईस्वी) सिख धर्म की स्थापना की।
2
गुरु अंगद (1539 ईस्वी – 1552 ईस्वी)
गुरुमुखी नामक एक नई लिपि की शुरुआत की।
3
गुरु  अमर दास (1552 ईस्व – 1574 ईस्वी)
लंगर को सिख धर्म का अभिन्न अंग बनाया।
4
गुरु राम दास (1574 ईस्व – 1581 ईस्वी)
अमृतसर नामक नगर की स्थापना की।
5
गुरु अर्जुन देव (1581 ईस्व – 1606 ईस्वी)
अमृतसर में स्वर्ण मंदिर का निर्माण करवाया  और पवित्र ग्रन्थ, ग्रंथ-साहिब को संकलित किया।
6
गुरु हरगोविन्द (1606 ईस्व – 1644 ईस्वी)
7
हर राय (1644 ईस्व – 1661 ईस्वी)
8
गुरु हर किशन (1656ईस्वी – 1664 ईस्वी)
अकाल तख्त का निर्माण करवाया।
9 गुरु तेग बहादुर (1664 ईस्व – 1675 ईस्वी) औरंगजेब के आदेश पर  इनकी हत्या कर दी गयी।
10 गुरु गोविन्द सिंह (1675-1708) गुरु के पद को  पूरी तरह से आदि ग्रंथ (गुरु ग्रंथ साहिब) को हस्तांतरित कर दिया और सिक्खों को पूरी तरह से एकीकृत करने के लिए खालसा नामक एक सैनिक दल की स्थापना की। इसके अलावा, सिंह की उपाधि भी ग्रहण किया।

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *