राष्ट्रीय वयोश्री योजना क्या है?


गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले वरिष्ठ नागरिकों के लिए सरकार 477 करोड़ रुपये की लागत से 'राष्ट्रीय वयोश्री योजना' (Rashtriy Vayoshri Yojana) अगले हफ्ते शुरू करने जा रही है। योजना के तहत सरकार वरिष्ठ नागरिकों को सुनने में सहायक मशीन और व्हीलचेयर सहित उम्र संबंधी सहायक उपकरण नि:शुल्क प्रदान करेगी।




केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत और सूचना एवं प्रसारण मंत्री एम. वेंकैया नायडू 25 मार्च को आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिला में एक शिविर में प्रस्तावित ‘राष्ट्रीय वयोश्री योजना' शुरू करेंगे। 26 मार्च को मध्य प्रदेश के उज्जैन जिला में भी शिविर होगा। हर शिविर में 2,000 लाभार्थियों के बीच ऐसे सहायक उपकरण वितरित करने का लक्ष्य रखा है।

इस योजना का मूल लक्ष्य आर्थिक रूप से कमजोर तबके के बुजुर्गों को ये सहायक उपकरण प्रदान कर उन्हें सक्रिय जीवन में लाना और बुजुर्गों के अनुकूल समाज का निर्माण करना है। इस योजना के लिये विभाग ने तीन नाम सुझाये थे जिनमें से प्रधानमंत्री कार्यालय ने 'राष्ट्रीय वयोश्री योजना' के नाम पर अपनी स्वीकृति दी थी।

योजना के लिए न्यूनतम योग्यताएं
योजना का लाभ पाने वालों के लिए न्यूनतम योग्यताएं भी निर्धारित की गई हैं। लाभ लेने वालों की उम्र 60 साल या उससे ज्यादा होना चाहिए। साथ ही उसका नाम बीपीएल श्रेणी से होना जरूरी है। 2011 के जनगणना के मुताबिक देश में 10.38 करोड़ वरिष्ठ नागरिक हैं। इनमें 5.2 फीसद बुजुर्ग उम्र संबंधी निशक्तता से ग्रसित हैं।

ये उपकरण मिलेंगे
बुजुर्गो को वितरित किए जाने उपकरण आईएसआई मानदंडों के अनुरूप होंगे। योजना के तहत आरामदायक जूते, बैसाखी, कृत्रिम दांत, व्हीलचेयर, श्रवण यंत्र, चश्मा, ट्रायपॉड, लोकोमोटर असमर्थता से निपटने वाले यंत्र समेत अन्य उपकरण मुफ्त दिए जाएंगे।

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *