आज का इतिहास 11 फरवरी (देश-विदेश)


आज ही के दिन यानि 11 फरवरी को भारत सहित विश्व इतिहास की प्रमुख घटनाएं इस प्रकार है–

660 ई.पू. – जापान के पहले तानाशाह ई मू सिंहासन पर बैठे। इस प्रकार से विश्व की सबसे दीर्घकालीन राजशाही शासन व्यवस्था की स्थापना हुई।
1613 – मुगल बादशाह जहांगीर ने ईस्ट इंडिया कंपनी को सूरत में कारखाना लगाने की अनुमति दी।



1720 – स्वीडेन तथा प्रशिया का शांति समझौता हुआ।
1793 – प्रशिया की सेना ने नीदरलैंड के वेनलो पर कब्जा किया।
1814 – यूरोपीय देश नार्वे ने स्वतंत्रता की घोषणा की।
1847 – तेज दिमाग के बूते दुनिया को कई नायाब चीजें देने वाले अल्वा एडिसन का जन्म हुआ।
1856 – ईस्ट इंडिया कंपनी ने अवध पर कब्जा किया।
1874 – अमेरिकी आविष्कारक थॉमस एल्वा एडिसन का जन्म हुआ।

यह भी जानें : 10 फरवरी की भारत सहित विश्व की प्रमुख घटनाएं

1889
– जापान में मेजी संविधान को अंगीकार किया गया।
1917 – दुनिया में सबसे ज्यादा पढ़े जाने लेखकों में से एक सिडनी शेल्डन का जन्म हुआ।
1919 – फ्रेडरिक एबर्ट जर्मनी के राष्ट्रपति चुने गये।
1929 – वैटिकन और इटली के बीच लेटरैन समझौता हुआ जिसके बाद वैटिकन को औपचारिक रुप से स्वतंत्रता मिली।
1944 – जर्मन की सेना इटली के अप्रिलिया पर दोबारा कब्जा किया गया।
1953 – सोवियत संघ ने इजरायल के साथ कूटनीतिक संबंध तोड़े।
1955 – भारत में पहली बार अखबारों का प्रकाशन शुरु हुआ।

पढ़े : भारतीय व विश्व इतिहास में 12 फरवरी का दिन

1959 – भारतीय क्रिकेटर वीनू माकंड ने अपना आखिरी टेस्ट वेस्टइंडीज के खिलाफ दिल्ली में खेला।
1964 – ताइवान ने फ्रांस के साथ कूटनीतिक संबंध तोड़े।
1966 – पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री का ताशकंद में निधन हुआ।
1968 – जनसंघ संस्थापक, लेखक, पत्रकार पंडित दीन दयाल उपाध्याय की हत्या मुगलसराय में की गई।
1978 – चीन ने अरस्तू, शेक्सपियर और डिकेंस की रचनाओं पर लगा प्रतिबंध हटाया।
1979 – ईरान के प्रधानमंत्री ने इस्तीफा दिया, ईरान के सर्वोच्च नेता आयतुल्ला खमेनी का सत्ता पर कब्जा हुआ।
1987 – अमेरिका ने नेवादा परीक्षण स्थल पर परमाणु परीक्षण किया।
1990 – दक्षिण अफ्रीका के महान नेता नेल्सन मंडेला को 27 साल लंबी कैद के बाद रिहाई मिली।

2001 – एक डच कंप्यूटर प्रोग्रामर ने अन्ना कुरनिकोवा वायरस को लॉन्च किया, जिससे लाखों ई-मेल प्रभावित हुए।
2011 – मिस्र क्रांति के चलते राष्ट्रपति होस्नी मुबारक ने इस्तीफा दिया।
2013 – रूस के कोमी क्षेत्र में विस्फोट में 18 खदान कर्मी मारे गये।

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *