आज का इतिहास 2 जनवरी (देश-विदेश)


आज ही के दिन यानि 2 जनवरी को भारत सहित विश्व इतिहास की प्रमुख घटनाएं इस प्रकार है–

1757 – राबर्ट क्लाइव ने नवाब सिराजुद्दौला से कलकत्ता (अब कोलकाता) को वापस छीना।
1839 – फ्रांसीसी फोटोग्राफर लुई दागुएरे ने चांद की पहली फोटो प्रदर्शित की।



1899 – रामकृष्ण के आदेश के बाद साधु कलकत्ता (अब कोलकाता) स्थित बेलूर मठ में रहने लगे।
1941 – द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जर्मनी के हमले से ब्रिटेन के कार्डिफ शहर स्थित लेनडॉफ कैथेड्रल को भारी नुकसान हुआ।
1942 – द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जापानी सेना ने फिलीपींस की राजधानी मनीला पर कब्जा किया।
1843 – डाक सेवा, नियमित रुप से आंरभ हुई और ऑस्ट्रिया की राजधानी वियेना में पहली पत्र पेटिका लगाई गयी।
1920 – आईज़ेक आसीमोफ़ नामक रुसी लेखक व रसायन शास्त्री का जन्म हुआ।

यह भी जानें : 1 जनवरी की भारत सहित विश्व की प्रमुख घटनाएं

1925 – कॉंगो के स्वतंत्रता अभियान के प्रमुख नेता पेट्रिस लोमोम्बा का जन्म हुआ।
1954 – भारत रत्‍न पुरस्कार देना प्रारम्भ किया गया।
1971 – ग्लासगो के इब्रॉक्स पार्क में दो मज़बूत प्रतिद्वंदी टीमें सेल्टिक और रेंजर्स के बीच हुए फुटबॉल मुक़ाबले के बाद घटी घटना में 66 लोग मारे गए।
1973 – जनरल एस एच एफ जे. मानेकशॉ को फील्ड मार्शल के पद पर पदोन्नति मिली।
1975 – बिहार के समस्तीपुर में जिले में एक बम विस्फोट में रेल मंत्री ललित नारायण मिश्रा घायल हुए।
1980 – ब्रिटिश स्टील कॉर्पोरेशन प्लांट में काम करने वाले कर्मचारियों ने पचास साल में पहली हार राष्ट्रीय स्तर पर हड़ताल की थी।

पढ़े : भारतीय व विश्व इतिहास में 3 जनवरी का दिन

1989 – लोकप्रिय नाट्यकर्मी सफदर हाशमी को एक नाटक के दौरान असामाजिक तत्वों ने इतनी बेहरमी से पीटा कि उनकी मौत हो गई।
1991 – केरल के तिरुवनंतपुरम हवाई अड्डे को अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के तौर पर मान्यता दी गई।
1992 – आॅस्ट्रेलिया के महान स्पिनर शेन वार्न ने भारत के खिलाफ सिडनी टेस्ट से अपना क्रिकेट करियर शुरू किया। इनके नाम 145 टेस्ट मैचों में 708 विकेट दर्ज हैंं।
1993 – श्रीलंका के गृह युद्ध में श्रीलंकाई नौसेना ने जाफना क्षेत्र में 35 से 100 नागरिकों की हत्या की।
– बॉसनिया के तीन अलग-अलग गुटों ने वहाँ नौ महीने से जारी लड़ाई को समाप्त करने और शांति स्थापित करने के मक़सद से बैठक की।
1998 – नाइजर के प्रधान मंत्री हामा अमादाउ को राष्ट्रपति इब्राहीम बारेमआनससेरा की हत्या के षड़यंत्र के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया।
2016 – सऊदी अरब के जाने माने शिया मौलवी निम्र अल निम्र और 46 अन्य साथियों को सरकार की ओर से फांसी दी गई।

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *