आज का इतिहास 17 जनवरी (देश-विदेश)


आज ही के दिन यानि 17 जनवरी को भारत सहित विश्व इतिहास की प्रमुख घटनाएं इस प्रकार है–

1584 – मध्य यूरोपीय देश बोहेमिया ने ग्रेगोरियन कैलेंडर अपनाया।
1595 – फ्रांस के राजा हेनरी चतुर्थ ने स्पेन के खिलाफ युद्ध की घोषणा की।



1601 – फ्रांस ने स्पेन के साथ समझौता किया जिसके तहत फ्रांस को ब्रीस, बगेस वोल्रोमेय तथा गेक्स का इलाका प्राप्त हुआ।
– मुगल बादशाह अकबर ने असीरगढ़ के अभेद किले में प्रवेश किया।
1757 – जर्मनी ने प्रूशिया के खिलाफ युद्ध की घोषणा की।
1806 – तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति थॉमस जेफरसन के पोते जेम्स मैडिसन रैंडोल्फ व्हाइट हाउस में पैदा होने वाले पहले बच्चे बने।
1841 – ब्रिटेन के पर्वतारोही जार्ज एवरेस्ट ने विश्व की सबसे ऊंची चोटी का पता लगाया। इस चोटी का नाम भी इसके बाद एवरेस्ट रख दिया गया।
1852 – ब्रिटेन ने दक्षिण अफ्रीका के ट्रांसवाल की स्वतंत्रता को मान्यता दी।

यह भी जानें : 16 जनवरी की भारत सहित विश्व की प्रमुख घटनाएं

1860 – रूस के लेखक आन्तवान चेख़ोफ़ का जन्म हुआ।
1863 – अमेरिकी राज्य वर्जीनिया में गृह युद्ध हुआ।
1895 – फ्रांसीसी राष्ट्रपति कैसिमिर पेरियर ने इस्तीफा दिया।
1913 – रेमंड प्वाइनकेयर फ्रांस के राष्ट्रपति चुने गये।
1915 – रूस ने बुकोविना और पश्चिमी यूक्रेन पर कब्जा किया।
1917 – अमेरिका ने 2.5 करोड़ डॉलर में वर्जिन आईलैंड्स को डेनमार्क से खरीदा।
1928 – पहली बार पूरी तरह से स्वचालित फोटो फिल्म बनाने की मशीन का पेटेंट कराया गया।
1941 – स्वतंत्रता सेनानी नेताजी सुभाष चंद्र बोस कलकत्ता से जर्मनी के लिए रवाना हुए।
1945 – सोवियत संघ की सेना जर्मनी के वर्साय पहुंची।
1946 – दुनिया की सबसे ताकतवर संस्था संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की पहली बैठक हुई।
1948 – नीदरलैंड तथा इंडोनेशिया संघर्ष विराम पर सहमत हुए।

पढ़े : भारतीय व विश्व इतिहास में 18 जनवरी का दिन

1976 – यूरोपीय स्पेस एजेंसी ने हरमस रॉकेट लांच किया।
1979 – सोवियत संघ ने परमाणु परीक्षण किया।
1980 – नासा ने फ्लाट्सट्कोम-3 लांच किया।
1987 – टाटा फुटबॉल अकादमी की शुरूआत हुई।
1989 – कर्नल जे.के. बजाज उत्तरी ध्रुव पर पहुंचने वाले पहले भारतीय बने।
1991 – अमरीका के नेतृत्व में गठबंधन सेना ने कुवैत और इराक़ में इराक़ी सेना के ठिकानों पर आक्रमण किया और कुवैत पर इराक़ का अतिग्रहण समाप्त हो गया।
– अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस की सेना के इराक पर हमला करते ही खाड़ी युद्ध शुरू हो गया था।
1995 – जापान के कोबे शहर में आए 7.2 तीव्रता के भूकंप के कारण 5,372 लोगों की मौत हुई।
2013 – इराक में सिलसिलेवार बम धमाकों में 33 लोगों की मौत हुई।

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *