साहित्य अकादमी पुरस्कार 2016 की घोषणा हुई


वर्ष 2016 के साहित्य अकादमी का प्रतिष्ठित पुरस्कार हिन्दी के लिए नासिरा शर्मा, उर्दू के लिए निजाम सिद्दीकी, अंग्रेजी के लिए जेरी पिंटो और संस्कृत के लिए सीतानाथ आचार्य शास्त्री सहित 24 भाषाओं के रचनाकारों को देने की 21 दिसंबर को घोषणा कर दी गई। इस वर्ष आठ कविता-संग्रह, पांच उपन्यास, दो समालोचना, एक निबंध संग्रह और एक नाटक के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार दिया जाएगा। यह सभी पुरस्कार अगले साल 22 फरवरी, 2017 में प्रदान किए जायेगे।




हिन्दी में नासिरा शर्मा को उनके उपन्यास पारिजात के लिए जबकि उर्दू में निज़ाम सिद्दीकी को उनकी समालोचना माबाद-ए-जदिदिआज से नए अहेद की तखलिकियात तक और अंग्रेजी में जेरी पिंटो को उनके उपन्यास एम एंड द बिग हूम के लिए पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।

घोषित नाम और कृतियां इस प्रकार हैं: असमिया में मेघमालार भ्रमण (कविता) के लिए ज्ञान पुजारी को, बांग्ला में महाभारतेर अष्टादशी (निबंध) के लिए नृसिंह प्रसाद भादुड़ी, बोडो में आं माबोरै दं दासों (कविता) के लिए अंजु (अंजलि नार्जारी), डोगरी में चेता (कहानी) के लिए छत्रपाल, अंग्रेजी में एम एंड द बिग हूम (उपन्यास) के लिए जेरी पिंटो, गुजराती में अनेकअेक (कविता) के लिए कमल वोरा को, हिंदी में पारिजात (उपन्यास) के लिए नासिरा शर्मा, कन्नड़ में स्वतंत्रायदा ओटा (उपन्यास) के लिए बोलवार महमद कुञि को दिया जाएगा।

इसी तरह कश्मीरी में आने खाने (समालोचना) के लिए अजीज हाजिनी, कोंकणी में काळे भांगार (उपन्यास) के लिए एडविन जे.एफ. डिसोजा, मैथिली में बड़की काकी एट हॉटमेल डॉट कॉम (कहानी) के लिए श्याम दरिहरे, मलयालम में श्याममाधवम (कविता) के लिए प्रभा वर्मा, मणिपुरी में चेपथरबा ईशिपुन (कहानी) के लिए मोइरा्थेम राजेन, मराठी में आलोक (कहानी) के लिए आसाराम लोमटे, नेपाली में जन्मभूमि मेरो स्वदेश (उपन्यास) के लिए गीता उपाध्याय, ओड़िया में प्राप्ति (कहानी) के लिए पारमिता सत्पथी को पुरस्कार दिया जाएगा।

पंजाबी में मसिआ दी रात (नाटक) के लिए स्वराजबीर, राजस्थानी में मरदजात अर दूजी कहाणियां (कहानी) के लिए बुलाकी शर्मा, संस्कृत में काव्यनिर्झरी (कविता) के लिए सीतानाथ आचार्य शास्त्री, संताली में नालहा (कविता) के लिए गोबिन्दचन्द्र माझी, सिन्धी में आखर कथा (कविता) के लिए नन्द जावेरी, तमिल में ओरु सिरु इसै (कहानी) के लिए वन्नदासन, तेलुगू में रजनीगंधा (कविता) के लिए पापिनेनि शिवशंकर और उर्दू में माबाद-ए-जदिदिआत से नए अहेद की तखलिकियात तक (समालोचना) के लिए निजाम सिद्दिकी को यह पुरस्कार दिया जाएगा।

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *