जस्टिस जगदीश सिंह केहर होंगे भारत के नए चीफ जस्टिस

64 वर्षीय जस्टिस जगदीश सिंह केहर भारत के अगले 44 वें मुख्य न्यायाधीश होंगे। वे जजों की नियुक्ति के लिए बनाए जा रहे विवादास्पद 'नेशनल जुडिशि‍यल अपॉइंटमेंट कमिशन (एनजेएसी) ऐक्ट' की सुनवाई कर रही, 5 जजों के संवैधानिक बेंच का नेतृत्व भी कर रहे हैं।

मुख्य न्यायाधीश टी. एस. ठाकुर का कार्यकाल 3 जनवरी, 2017 को खत्म होने जा रहा है। जस्टिस केहर भारत के 44वें चीफ जस्टिस होंगे। उनका कार्यकाल 4 जनवरी, 2017 से 4 अगस्त, 2017 तक रहेगा। भारत के चीफ जस्टिस बनने वाले वह पहले सिख होंगे। गौरतलब है कि चीफ जस्टिस ठाकुर ने मंगलवार को केंद्र सरकार को पत्र लिखकर जस्टिस केहर को अगला चीफ जस्टिस बनाने की सिफारिश की है।




पंजाब में 28 अगस्त, 1952 को जन्में न्यायाधीश खेहर तब सुर्खियों में आए थे, जब उन्होंने दिसंबर 2015 में उच्च न्याय पालिका में जजों की नियुक्ति के लिए कानून 'नेशनल जुडिशि‍यल अपॉइंटमेंट कमिशन (एनजेएसी) ऐक्ट' को निरस्त कर दिया था। इसके बाद इस वर्ष 2016 में उन्होंने एक बड़े फैसले में अरुणाचल प्रदेश में कांग्रेस की सरकार को पुनजीवित कर दिया। इसके अलावा अरुणाचल प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाने संबंधी निर्णय को पलटने वाली संवैधानिक बेंच का नेतृत्व भी जस्टिस केहर ने किया था। वे सुब्रत राय सहारा को जेल भेजने वाली बेंच में भी शामिल थे।

यह भी देखे :
भारत के मुख्य न्यायाधीशों की सूची (1947-2016)

हाल ही में ठेका और दिहाड़ी मजदूरों के लिए भी 'समान काम के लिए समान वेतन' के नियम को कड़ाई से पालन करने का ऐतिहासिक फैसला देने वाले बेंच के मुखिया भी जस्टिस केहर ही थे।

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *