मैन बुकर पुरस्कार 2016 जीता दक्षिण कोरिया की हान कांग ने


दक्षिण कोरियाई लेखिका हान कांग के उपन्यास 'द वेजिटेरियन' को प्रतिष्ठित मैन बुकर पुरस्कार के लिए 17 मई को चुना गया। यह उपन्यास एक महिला के मानवीय निर्ममता को खारिज करने और मांस सेवन छोड़ने पर आधारित है।

इस पुरस्कार के तौर पर हान कांग को 50 हजार पाउंड (करीब 48.38 लाख रुपये) की राशि मिली। कांग ने यह राशि उपन्यास की अनुवादक डेबोरा स्मिथ से साझा की। सोल इंस्टीट्यूट आॅफ आटर्स में रचनात्मक लेखन पढ़ाने वाली 45 साल की कांग का यह पहला उपन्यास है जिसका अंग्रेजी में अनुवाद हुआ।

Read English : Han Kang's 'The Vegetarian' Wins Man Booker Prize 2016

पोर्टबेलो बुक्स द्वारा प्रकाशित द वेजिटेरियन को पांच जजों के एक पैनल ने 155 किताबों में से सर्वसम्मति के साथ चुना था। इस पैनल की अध्यक्षता जाने-माने आलोचक और संपादक बॉएड टोंकिंग ने की।

यह भी जानें : अ​ब त​क के मैन बुकर पुरस्कार विजेताओं की सूची


सोल इंस्टीटयूट ऑफ आट्र्स में रचनात्मक लेखन पढ़ाने वालीं 45 वर्षीय कांग दक्षिण कोरिया में पहले ही मशहूर हैं और वह यी सांग लिटरेरी प्राइज, टुडेज यंग आर्टिस्ट अवॉर्ड और कोरियन लिटरेचर नोवल अवॉर्ड जीत चुकी हैं।

द वेजिटेरियन उनका पहला उपन्यास है, जिसे 28 वर्षीय स्मिथ ने अंग्रेजी में अनुवाद किया है। स्मिथ ने 21 साल की उम्र से कोरियन सीखनी शुरू की थी। अब वह कांग के साथ 50 हजार पाउंड के पुरस्कार में हिस्सेदार हैं।

अनुवाद में उत्कृष्ट वैश्विक काल्पनिक लेखन के तहत मैन बुकर अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार में लेखक और अनुवादक दोनों को 25-25 हजार पाउंड और नए डिजाइन वाली ट्रॉफी मिलती है।

उन्हें शॉर्टलिस्ट होने के लिए एक-एक हजार पाउंड अतिरिक्त भी मिले हैं। इस साल इस पुरस्कार की दौड़ में कोई भारतीय लेखक नहीं है।

यह पुरस्कार मैन ग्रुप की ओर से दिया जाता है, जो मैन बुकर प्राइज फॉर फिक्शन को भी प्रायोजित करता है। दोनों ही पुरस्कार समकालीन साहित्य में उत्कृष्ट लेखन को मान्यता प्रदान करने और पुरस्कृत करने का प्रयास है।

Loading...

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *