भारत के सबसे बुजुर्ग क्रिकेटर दीपक शोधन का निधन

भारत के सबसे उम्रदराज टेस्ट क्रिकेटर दीपक शोधन का 16 मई को निधन हो गया। वह 87 साल के थे। वह फेफड़े के कैंसर से पीड़ित थे। बीते साल फरवरी में शोधन को इस बीमारी का पता चला था।

शोधन को पाकिस्तान के खिलाफ दिसंबर 1952 में कोलकाता के ईडन गार्डन्स में खेले गए अपने डेब्यू मैच की पहली पारी में ही शतक जड़ने के लिए जाना जाता है। 18 अक्टूबर 1928 को जन्में शोधन आठवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे और उन्होंने आखिरी बल्लेबाज के रूप में आउट होने से पहले पहले 110 रन की जबर्दस्त पारी खेली जिसमें 15 चौके शामिल थे।

उन्होंने कोलकाता में अपने करियर के पहले ही टेस्ट मैच में शानदार शतक लगाया था। उन्होंने गुजरात और बड़ौदा के लिए रणजी में हिस्सा लिया। बाद में भी शोधन प्रथम श्रेणी में सक्रिय रहे।

Also Read : India's oldest Test cricketer Deepak Shodhan passes away
बायें हाथ से बल्लेबाजी करने वाले शोधन हालांकि अपने करियर में केवल तीन टेस्ट मैच हीं खेल पाए जिसमें उन्होंने 60.33 की औसत से 181 रन बनाए।

शोधन ने बड़ौदा और गुजरात की तरफ से प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेला। उन्होंने 43 प्रथम श्रेणी मैचों में 1802 रन बनाए थे जिसमें चार शतक और सात अर्धशतक शामिल थे। उनका उच्चतम स्कोर 261 रन था। इसके अलावा मध्यम गति के गेंदबाज के रूप में उन्होंने 73 विकेट भी लिए।

दीपक शोधन का सफर 
– वह पहली टेस्ट पारी में शतक लगाने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज रहे।
– शोधन ने 25 साल की उम्र में टेस्ट पदार्पण करते हुए पाकिस्तान के खिलाफ तब शतक लगाया, जब भारत 179 रन पर छह विकेट गंवा चुका था।
– आठवें क्रम पर बल्लेबाजी के लिए आए शोधन जब 110 रन बनाकर आउट हुए तक तक भारत 397 रन बना चुका था।
– भारत ने 140 रन की बढ़त हासिल की लेकिन वह मैच बराबरी पर समाप्त हुआ था।

Loading...

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *