ई-मेल के आविष्कारक रे टॉम्लिंसन का निधन


वर्ष 1970 के दशक में ई-मेल का आविष्कार करने वाले अमेरिकी प्रोग्रामर रे टॉम्लिंसन का 5 मार्च, 2016 को निधन हो गया। वह 74 वर्ष के थे।

रे टॉम्लिंसन ने 1971 में पहला इलेक्ट्रॉनिक मैसेज भेजकर संचार की दुनिया में क्रांति ला दिया था। इलेक्ट्रॉनिक मेल के लिए उन्होंने एट दी रेट (@) सीम्बल का चयन उस समय किया। एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर पर संदेश भेजना किसी सपने से कम नहीं था जिसे टॉम लैंसन ने वास्तव कर दिखाया।

टॉम्लिंसन की नियोक्ता कंपनी रेथियॉन ने कहा कि वह तकनीक के शानदार जानकार थे। रे ही वह व्यक्ति थे जो पुराने समय के नेटवर्क कंप्यूटरों में ई-मेल लेकर आए। उनके कामों ने दुनिया में संचार के आदान-प्रदान के तरीके को ही बदल कर रख दिया। इतनी शानदार उपलब्धि के बावजूद वह बहुत विनम्र व्यक्ति थे। उनके निधन पर दुनिया भर से शोक संदेश आ रहे हैं।

टॉम लैंसन के निधन पर गूगल जीमेल टीम ने भी खेद व्यक्त करते हुए (@) का सीम्बल शुरूआत में उन्हें धन्यवाद दिया और अपनी ट्वीट में कहा कि (@) का सीम्बल दुनिया के नक्शे पर लाने के लिए हम टॉम लैंसन के आभारी हैं।

महत्वपूर्ण तथ्य
● रे टॉम्लिंसन ने 1971 में डायरेक्ट इलेक्ट्रॉनिक मैसेज का आविष्कार किया।
● उन्होंने ही इलेक्ट्रॉनिक मेल के लिए एट दी रेट (@) सीम्बल का चयन
● टॉम्लिंसन ही वह व्यक्ति थे जो पुराने समय के नेटवर्क कंप्यूटरों में ई-मेल लेकर आए।

Loading...

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *