भारतवंशी काश्मिया आईक्यू परीक्षा में टॉप

ब्रिटेन में भारतीय मूल की एक 11 साल की लड़की ने आईक्यू टेस्ट मेनसा में 162 का स्कोर हासिल करते हुए टॉप किया है। टेस्ट में टॉप पोजिशन हासिल करने के बाद वह देश के सबसे कम उम्र के बुद्धिमान छात्रों में शामिल हो गई है। मुंबई में जन्मी कश्मीया वाही ने 162 में से 162 अंक हासिल कर अपने आप को वैज्ञानिक अलबर्ट आइंस्टीन और स्टीफन हॉकिंग की लीग में शामिल करा लिया। माना जाता है कि आइंस्टीन और हॉकिंस का आईक्यू 160 था। ‘कैटल-3 बी मेनसा’ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्याति रखने वाली आकलन प्रक्रिया है।

काश्मिया : एक परिचय
मुंबई में जन्मी काश्मिया पश्चिमी लंदन स्थित नॉटिंग हिल एंड ईलिंग जूनियर स्कूल की छात्रा है। बीते साल ऑस्फोर्ड मैथ्स प्रतियोगिता में तीसरा स्थान पाने वाली स्कूल टीम की भी सदस्य थी। वह शतरंज की राष्ट्रीय प्रतियोगिताएं भी जीत चुकी है। काश्मिया को नेट बॉल खेलना पसंद है। विकास और पूजा उसके माता-पिता हैं। विकास लंदन में ड्यूश बैंक में आईटी प्रबंधन सलाहकार हैं।

कैटल-3 बी परीक्षा क्या है?
कैटल-3 बी मेनसा आईक्यू परीक्षा अंतरराष्ट्रीय स्तर की एक प्रसिद्ध आकलन प्रक्रिया है। मेनसा संसार में सबसे बड़ी और सबसे पुरानी उच्च आईक्यू सोसायटी मानी जाती है। इसमें 150 प्रश्न पूछे जाते हैं जिनमें वयस्क अधिकतम 161 अंक और 18 वर्ष से कम उम्र के प्रतिभागी 162 अंक हासिल कर सकते हैं। कोई भी इसमें भाग ले सकता है।

Loading...

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *