इंडियन सुपर लीग 2015 की विजेता बनी चेन्नईयन

चेन्नईयन एफसी ने जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में हुए फाइनल मुकाबले में एफसी गोवा को हराकर इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के दूसरे संस्करण का खिताब अपने नाम कर लिया है। ​20 दिसंबर को खेले गए खिताबी मुकाबले में चेन्नईयन ने एफसी गोवा को नजदीकी मुकाबले में 3-2 से पराजित किया। इस मुकाबले में आखिर के चार मिनट में तीन गोल हुए। चेन्नईयन के लिए मैच के 54वें मिनट में ब्रूनों पेलिसारी ने गोल कर अपनी टीम को बढ़त दिला दी। पेलिसारी ने यह गोल फ्री किक पर किया।

0-1 से पिछड़ने के चार मिनट बाद ही थोंगखोसीम हाओकिप ने 58वें मिनट में गोल कर एफसी गोवा को 1-1 की बराबरी दिला दी। गोवा की ओर से जोफ्रे गोंजालेज ने 87वें मिनट में गोल कर अपनी टीम को 2-1 से आगे कर दिया। ​इसके बाद ऐसा लग रहा था कि यही विजयी गोल साबित होगा लेकिन गोवा के गोलकीपर लक्ष्मीकांत काट्टीमानी मैच के आखिरी समय (90वें मिनट) में आत्मघाती गोल कर बैठे और चेन्नईयन को वापसी का मौका मिल गया। चेन्नइयन के लिए इसके बाद स्टीवन मेंडोजा ने पेनाल्टी पर तीसरा गोल कर दिया और इस जीत के साथ उनकी टीम चेन्नइयन एफसी आईएसएल की नई चैम्पियन बनकर उभरी।

इंडियन सुपर लीग 2015 : प्रमुख तथ्य
8 करोड़ रुपये पुरस्कार राशि के तौर पर मिले विजेता टीम को
4 करोड़ मिले उप विजेता टीम को
186 गोल हुए 60 मैचों में
जेजे लापेखलुआ आईएसएल इमर्जिंग प्लेयर आॅफ द लीग चुने गए
एडेल बेटे को मिला गोल्डन ग्लव्स अवार्ड
कोलंबिया के मेंडोजा को बेस्ट प्लेयर आॅफ द टूर्नांमेंट के अलावा गोल्डन बूट अवार्ड भी ​मिला। इन्होंने सीजन में सबसे ज्यादा 13 गोल किए।

Loading...

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *