INS कोच्चि, भारतीय नौसेना में हुआ शामिल


देश में निर्मित सबसे बड़ा और शक्तिशाली विध्वंसक पोत आईएनएस कोच्चि 30 सितम्बर, 2015 को मुंबई में भारतीय नौसेना की ताकत बन गया। रक्षामंत्री मनोहर पर्रिकर ने मुंबई के नेवल डॉकयॉर्ड में INS कोच्चि को नौसेना के बेड़े में शामिल किया।

इस कामयाबी को पश्चिम में देश के समुद्र तट पर सुरक्षा को मजबूत बनाने के लिए बड़े कदम के रूप में देखा जा रहा है। यह कोलकाता श्रेणी (परियोजना 15 ए) का दूसरा ‘गाइडेड मिसाइल डेस्ट्रोयर’ जहाज है और अपनी श्रेणी में दुनिया के सबसे बेहतरीन विश्वंसक जहाजों में से एक है।

विध्वंसक युद्धपोत INS कोच्चि देश में निर्मित सबसे बड़ा जंगी जहाज है। इसकी मारक क्षमता 300 किमी है। तीन हजार करोड़ की लागत और 7500 टन विस्थापन क्षमता का यह जहाज मुंबई के मझगांव डॉकयार्ड पर बनाया गया है। 2008 में मुंबई में हुए आतंकी हमले के बाद से पश्चिम में समुद्री तटों की सुरक्षा सबसे बड़ी चिंता बन गई थी। इस क्षेत्र में INS कोच्चि के उतरने से सुरक्षा पंक्ति तो मजबूत होगी ही साथ ही हिंद महासागर में देश का दबदबा भी बढ़ेगा। यह अत्याधुनिक हथियारों से भी लैस है।

INS कोच्चि के 7 प्रमुख तथ्य–
1. INS कोच्चि देश में निर्मित सबसे बड़ा जंगी जहाज है। यह कोलकाता श्रेणी (परियोजना 15 ए) का दूसरा ‘गाइडेड मिसाइल डेस्ट्रोयर’ जहाज है और अपनी श्रेणी में दुनिया के सबसे बेहतरीन विध्वंसक जहाजों में से एक है। इसकी मारक क्षमता 300 किमी है।

2. तीन हजार करोड़ की लागत और 7500 टन विस्थापन क्षमता का यह जहाज मुंबई के मझगांव डॉकयार्ड पर बनाया गया है। इसका नामकरण किया गया है बंदरगाह शहर कोच्चि के नाम पर।

3. INS कोच्चि 33 सौ समुद्री मील क्षेत्र की गश्त करने में सक्षम है। जहाज 164 मीटर लंबा और 17 मीटर गहरा है। इसे चार गैस टर्बाइन से संचालित किया जाता है।

4. 2008 में मुंबई में हुए आतंकी हमले के बाद से पश्चिम में समुद्री तटों की सुरक्षा सबसे बड़ी चिंता बन गई थी. इस क्षेत्र में INS कोच्चि के उतरने से सुरक्षा पंक्ति तो मजबूत होगी ही साथ ही हिंद महासागर में देश का दबदबा भी बढ़ेगा।

5. INS कोच्चि कोलकाता श्रेणी का दूसरा युद्धपोत है। इसमें लगा इजराइल निर्मित एमफ-स्टार रडार सैकड़ों किलोमीटर दूर स्थित टारगेट को पकड़ सकता है।

6. रडार की पकड़ में नहीं आ सकने वाले इस जहाज पर करीब 40 अधिकारी और 350 कर्मी रह सकते हैं। मिसाइल से लैस जहाज दुश्मन के रडार को चकमा देने में सक्षम हैं। इसमें महिला अफसर भी तैनात रहेंगी।

7. यह अत्याधुनिक हथियारों से लैस युद्धपोत है। ब्रम्होस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल, लंबी दूरी वाला समुद्र की सतह से हवा में मार करने वाला मिसाइल सिस्टम, 76 मिमी व 30 मिमी की गन और एंटी सब टारपीडो और रॉकेट आदि इसपर लगे हुए हैं। इस पर सीकिंग और चेतक जैसे दो हेलिकॉप्टर भी रखे जा सकते हैं।

Loading...

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *