फर्जी है सभी ऑनलाइन कोर्स - यूजीसी


सावधान, अगर आप देशभर के किसी विश्वविद्यालय या संस्थान में ऑनलाइन कोर्स में प्रवेश लेने जा रहे हैं तो रूक जाइये.. क्योंकि ऐसे किसी भी कोर्स यानि पाठयक्रम को अनुमति नहीं दी गई है। यूजीसी सचिव जसपाल एस संधू ने बताया है कि देश के किसी भी विश्वविद्यालय या संस्थान में अब तक कोई ऑनलाइन पाठयक्रम शुरू नहीं किया गया है। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने देशभर के विश्वविद्यालयों को सावधान किया है कि वे तत्काल ऐसे फर्जी कोर्स बंद करें। यूजीसी के सचिव की ओर से सभी अभिभावकों व युवाओं के लिए भी सूचना जारी कर दी गई है।

यूजीसी सचिव संधू ने बताया कि अगर कोई संस्थान ऐसा कोई ऑनलाइन कोर्स करवा रहा है तो वह पूर्णत: फर्जी माना जायेगा। यह भी साफ किया है कि कई शिक्षण संस्थान एडमिशन सीजन में भ्रामक विज्ञापन प्रसारित कर रहे हैं। लिहाजा कहीं भी दाखिले से पहले सर्तक हो जाएं। उन्होंने कहा कि इंजीनियरिंग व टेक्नोलॉजी की मुक्त एवं दूरस्थ शिक्षा प्रणाली के तहत डिप्लोमा/स्नातक/स्नातकोत्तर कोर्स को चलाने के लिए यूजीसी ने किसी भी शिक्षण संस्थान को अनुमति नहीं दी है। यूजीसी की ओर से जिन शिक्षण संस्थानों को मुक्त एवं दूरस्थ शिक्षा के लिए मान्यता दी गई है, उनकी सूची यूजीसी की डिस्टेंस एजूकेशन ब्यूरो से जुड़ी वेबसाइट पर उपलब्ध है। उन्होंने आगाह किया है कि अगर आप कोई ऐसी डिग्री लेते हैं, जिसे यूजीसी की मान्यता नहीं है तो उससे आपको न तो सरकारी सेवाओं में लाभ होगा न ही आगामी शिक्षा में कोई फायदा होगा।

केवल प्रदेश में रख सकते हैं स्टडी सेंटर
यूजीसी ने साफ किया है कि जो विवि ओपन एजूकेशन दे रहे हैं, वे केवल अपने प्रदेश में ही दूरस्थ शिक्षा का परिसर या स्टडी सेंटर चला सकते हैं। राज्य से बाहर उन्हें कोई भी स्टडी सेंटर चलाने की अनुमति नहीं है।

Loading...

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *