बेरोजगारों का रजिस्ट्रेशन अब सिर्फ ऑनलाइन


उत्तर प्रदेश सेवायोजन विभाग में बेरोजगारों का पंजीकरण अब केवल ऑनलाइन होगा। पहले की तरह अब मैनुअल पंजीकरण नहीं हो सकेंगे। पंजीकरण के लिए अभ्यर्थी को शैक्षिक अभिलेखों समेत सभी प्रमाण पत्रों को स्कैन करके सेवायोजन विभाग के पोर्टल पर अपलोड करना होगा। पूर्व में पंजीकृत बेरोजगारों के पंजीकरण का नवीनीकरण भी तभी होगा जब वे पोर्टल पर अपने अभिलेख ऑनलाइन कर देंगे।

नई व्यवस्था के मुताबिक अब बेरोजगारों के पंजीकरण केवल ऑललाइन होंगे। प्रमुख सचिव श्रम अरुण कुमार सिन्हा ने इस संबंध में निदेशक, प्रशिक्षण एवं सेवायोजन तथा सभी डीएम व कमिश्नर को निर्देश भेज दिए हैं। उन्होंने कहा है कि बेरोजगार अभ्यर्थी अपने घर, साइबर कैफे या जन सुविधा केंद्रों के माध्यम से अपने शैक्षिक अभिलेखों व प्रमाणपत्रों को स्कैन कर वेबपोर्टल www.sewayojan.org पर अपलोड करेंगे। संबंधित सेवायोजन कार्यालय बेरोजगार अभ्यर्थियों की प्रविष्टियों का मिलान अपलोड किए गए स्कैन अभिलेखों से करके रजिस्ट्रेशन नंबर उपलब्ध कराएगा। पंजीकरण कराने के तीन कार्य दिवसों के बाद रजिस्ट्रेशन नंबर पोर्टल से डाउनलोड किए जा सकेंगे।

सेवायोजन कार्यालयों में पूर्व में पंजीकृत बेरोजगार अभ्यर्थियों को भी अपनी पूर्व की पंजीयन संख्या व अन्य आवश्यक सूचनाएं स्कैन करके वेब पोर्टल पर अपलोड करनी होंगी। इनका सत्यापन जिला सेवायोजन कार्यालयों में उपलब्ध अभिलेखों से मिलान करके कराया जाए।

इसके बाद उनसे अन्य सभी सूचनाएं वेबपोर्टल पर अपलोड कराई जाएंगी। पंजीकरण के नवीनीकरण के लिए वेबपोर्टल पर अपने सभी रिकार्ड ऑनलाइन करने होंगे। इसी बाद ही नवीनीकरण होगा।

सेवायोजकों का पंजीकरण हुआ अनिवार्य
प्रमुख सचिव श्रम ने कहा है कि बेरोजगार अभ्यर्थियों की तरह सेवायोजकों को भी सेवायोजन विभाग के पोर्टल पर पंजीकरण कराना अनिवार्य होगा। जिन सेवायोजकों के यहां 25 या उससे अधिक कर्मचारी हैं, उन्हें अपने संस्थान में रिक्तियों की सूचना सेवायोजन कार्यालय को देना अनिवार्य है। ये सभी सूचनाएं ऑनलाइन ही एकत्र कीजाएंगी। प्रमुख सचिव ने निर्देश दिए हैं कि अभियान चलाकर सेवायोजकों को पंजीकृत कराने की जरूरत है ताकि बेरोजगारों के लिए ज्यादा से ज्यादा अवसर उपलब्ध हो सकें।

Loading...

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *