80 हजार ​शिक्षकों व शिक्षामित्रों का समायोजन


उत्तर प्रदेश के उच्च प्राथमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापकों के पदों पर पदोन्नति का आदेश जारी होने के साथ प्रदेश भर में 80 हजार से अधिक परिषदीय शिक्षकों के नए पदों पद समायोजन का रास्ता साफ हो गया है। सचिव बेसिक शिक्षा परिषद ने 28 मई को उच्च प्राथमिक विद्यालयों में पदोन्नति के लिए वरिष्ठता सूची तैयार करने का आदेश जारी करने कर दिया था। इसके बाद 29 मई को प्रधानाध्यापकों की पदोन्नति का आदेश जारी कर दिया।

30,000 प्रधानाध्यापकों के पद खाली
प्रदेश भर में इस समय उच्च प्राथमिक विद्यालयों में 30 हजार प्रधानाध्यापकों के पद खाली हैं। उच्च प्राथमिक विद्यालयों के शिक्षकों एवं प्राथमिक विद्यालयों में कार्यरत प्रधानाध्यापकों के उच्च प्राथमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापक के पद पर पदोन्नति के बाद लगभग 30 सहायक अध्यापकों के प्राथमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में अध्यापक के पद पर पदोन्नति का रास्ता खुल जाएगा।

प्राथमिक एवं उच्च प्राथमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापकों के पद खाली होने के बाद प्रदेश में शिक्षामित्रों के 20 हजार से अधिक पदों पर समायोजन पूरा हो जाएगा। उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष एवं प्रदेश मंत्री देवेंद्र कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि यदि उच्च प्राथमिक विद्यालयों में खाली सभी प्रधानाध्यापक पद ग्रहण नहीं करेंगे तो भी 80 हजार से अधिक शिक्षकों के समायोजन का रास्ता साफ हो जाएगा। उन्होंने बताया कि इलाहाबाद में भी 700 शिक्षक उच्च प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापक बन जाएंगे। उन्होंने सचिव बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से जारी आदेश का स्वागत किया है।

Loading...

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *