एनसीपी नेता आरआर पाटिल का निधन

महाराष्ट्र के पूर्व उपमुख्यमंत्री और गृह मंत्री आर आर पाटिल का सोमवार 16 फरवरी को निधन हो गया है। उन्हें मुंह का कैंसर था और वह जीवन रक्षक प्रणाली पर चल रहे हैं। सांगली जिले के तासगांव विधानसभा सीट से वो लगातार 6 बार विधायक रहे।

एनसीपी के वरिष्ठ नेता रावसाहेब रामराव पाटिल को महाराष्ट्र में लोग आरआर पाटिल के नाम से जानते थे। कांग्रेस-एनसीपी की सरकार में आर आर पाटिल उपमुख्यमंत्री और गृह मंत्री रहे। महाराष्ट्र के सांगली जिले में जन्मे सोपाटिल का महाराष्ट्र की राजनीति में बड़ा कद था। एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार के बेहद करीबी माने जाने वाले पाटिल को कांग्रेस-एऩसीपी गठबंधन वाली सरकार में हमेशा नंबर दो की कुर्सी मिली।

पेशे से वकील 57 साल के पाटिल ने 1990 से लगातार 6 बार सांगली जिले के तासगांव से विधानसभा चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। 2014 के मोदी लहर के बावजूद आर आर पाटिल अपनी सीट बचाने में कामयाब रहे। पाटिल 2003 से 2008 तक महाराष्ट्र के गृह मत्री रहे। इसी दौरान उन्हें महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री की जिम्मेदारी भी सौंपी गई। 2009 में कांग्रेस-एनसीपी के गठबंधन वाली सरकार के दोबारा सत्ता में आने पर उन्हें फिर से महाराष्ट्र के गृह मंत्री की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। पाटिल अक्टूबर 2009 से सितंबर 2014 तक दोबारा महाराष्ट्र के गृह मंत्री रहे।

एनसीपी के सबसे प्रखर नेता आर आर पाटिल फिलहाल फडणवीस सरकार में एनसीपी के नेता विपक्ष थे।

Loading...

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *