नई दिल्ली विश्व पुस्तक मेला 2015

नई दिल्ली के प्रगति मैदान में नेशनल बुक ट्रस्ट द्वारा आयोजित विश्व पुस्तक मेला का आयोजन 14 से 22 फरवरी, 2015 के बीच होगा। इस वर्ष 20 देशों का साहित्य यहां मौजूद होगा। साथ ही दिल्ली और एनसीआर के 37 मेट्रो स्टेशनों पर पुस्तक मेले की टिकट खरीदी जा सकेगी। यह सुविधा मेले की शुरुआत से पहले ही शुरू हो जाएगी।

इस बार विश्व पुस्तक मेले में देश-विदेश के कुल 1100 प्रकाशक हिस्सा लेंगे। पिछली बार 21 देशों ने अंतरराष्ट्रीय पुस्तक मेले में भाग लिया था। इस बार के पुस्तक मेले में चार नए देश हंगरी, ऑस्ट्रिया, स्पेन और क्यूबा भी शामिल हो रहे हैं। मेहमान देश सिंगापुर है, तो कोरिया फोकस कंट्री होगी।

देश के पूर्वोत्तर राज्यों के साहित्य को तरजीह देने के लिए इस बार पुस्तक मेले की थीम ‘पूर्वोत्तर के स्वर’ रखा गया है। मेले में नार्थ ईस्ट की संस्कृति के साथ-साथ वहां के साहित्य की भी झलक देखने को मिलेगी। बुक फेयर में अलग-अलग देश के सांस्कृतिक कार्यक्रमों की झलक भी देखने को मिलेगी। बच्चों के लिए कार्टून डिजाइन, थियेटर वर्कशॉप समेत कई कार्यक्रम बुक फेयर में आयोजित किए जाएंगे। विकलांग और सीनियर सिटिजंस के लिए एंट्री फ्री होगी। पिछले साल पुस्तक मेले में दस लाख से ज्यादा लोग पहुंचे थे।

‘न्यू डेल्ही वर्ल्ड बुक फेयर-2015’ एप: 
पुस्तक मेले के बारे में किसी भी तरह की जानकारी के लिए बुक ट्रस्ट की ओर से खास मोबाइल एप तैयार किया गया है। ‘न्यू डेल्ही वर्ल्ड बुक फेयर-2015’ नाम के इस एप को एंड्रॉयड के प्ले स्टोर से इंस्टॉल किया जा सकेगा। पुस्तक मेले में शामिल प्रकाशकों के नाम, उनके स्टाल की जगह, किस विषय की पुस्तकें और पुस्तक मेले का पूरा नक्शा एप में मौजूद होगा।

500 से ज्यादा लेखक उपस्थित होगें: 
पुस्तक मेले में इस बार हिंदी, अंग्रेजी व अन्य भाषाओं के 500 से ज्यादा लेखकों से मिलने और उनके विचारों को जानने का मौका मिलेगा। नौ दिन तक चलने वाले पुस्तक मेले में सम्मेलन, विचार गोष्ठियां और पुस्तक विमोचन के कार्यक्रम भी आयोजित किए जाएंगे। इसके अलावा समकालीन विषयों और पुस्तकों पर भी गंभीर विमर्श आयोजित किए जाएंगे।

Loading...

Comments & Contact Form

Name

Email *

Message *